Thursday, 28 December 2017

सामंत गौरव - खिंव सिंह राठौड़


सामंत गौरव - "खिंव सिंह राठौड़"


चयन - RPS 39th rank

RAS marks
Paper 1- 96
Paper 2- 122
Paper 3- 91
Paper 4- 112


Total mains marks - 421/800
Interview -55/100 (R D Saini Board)
Total 476/900 marks


टीम सामन्त:-आपका परिचय?

खिंव सिंह राठौड़:- खिंव सिंह s/o श्री महेन्द्र सिंह राठौड़
गाँव - बालवा (नागौर)
10th 75%, 12th 65%
B.sc. जोधपुर यूनिवर्सिटी से
Masters in finance and business law नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी जोधपुर से.

सामन्त टीम:-इस परीक्षा की तैयारी की तरफ आपका आकर्षण क्यों हुआ ? कोई विशेष कारण या Turning Point ?
खिंव सिंह राठौड़:- पहले ही प्रयास में BSF में अस्सिटेंट कमांडेंट में चयन हुआ, वहां 3-4 साल फिल्ड में company commander की ड्यूटी के दौरान ऑफिस ड्यूटी ही रह जाती हैं और जिससे कुछ समय मिल जाता है तो सोचा की देश की रक्षा में 5 साल देने के बाद क्यों ना गृह राज्य में समाज सेवा की और रुख किया जाए इसलिए स्टेट PCS के बारे में सोचा.

सामंत टीम:-तैयारी आरम्भ करने के बाद अब तक का सफर कैसा रहा ?
खिंव सिंह राठौड़:- BSF की नौकरी बॉर्डर पर रहने और कश्मीर में 3 साल के समय में ड्यूटी के अलावा कहीं और कमिटमेंट ना होने से थोड़ा पढ़ाई करने का मौका मिल गया. मुख्य परीक्षा की तैयारी के दौरान कुछ दिन Springboard academy Jodhpur से श्री मनोहर सिंह जी महेचा के मार्गदर्शन से काफी मदद मिली. इंटरव्यू के लिए राजस्थान सिविल सर्विसेज के सीनियर अधिकारी श्री राजेन्द्र सिंह जी सिसोदिया, श्री R S. शेखावत जी, श्री महावीर सिंह जी का काफी सहयोग रहा.

सामन्त टीम:-इस सफलता से पहले की सफलताओं या असफलाओं का जिक्र ? 
खिंव सिंह राठौड़:- Graguation और PG में सुरक्षा बलो में जाने का आकर्षण था इसलिए CDS के लिए आवेदन किया. दो बार SSB interview भी दिए जिसमे सफलता नहीं मिली. UPSC के CPF AC में प्रथम प्रयास में ही सफलता मिलने पर उत्साह बढ़ा और उसी आत्म विश्वास से RAS की तैयारी की प्रेरणा मिली. BOB ग्रामीण बैंक में PO में भी चयन हुआ था पर वहां ज्वाइन नहीं की.

सामन्त टीम:-आपकी इस सफलता में कौनसे पहलु नींव के पत्थर साबित हुए ? किनका योगदान विशेष रहा ?
खिंव सिंह राठौड़:- स्कूल के दिनों में प्राथमिक एवं माध्यमिक स्कूल स्तर पर गाँव में शिक्षक श्री कर्ण सिंह जी राठौड़, श्री निम्बाराम जी और श्री चिरंजीत सिंह जी राठौड़ ने सामान्य ज्ञान में रूचि जागृत की और मेट्रिक में श्री मनोहर सिंह जी सलेउ द्वारा पढ़ाई गई गणित भविष्य में नींव का पत्थर साबित हुई. NLUJ के बैचमैट अवि प्रसाद (IAS MP कैडर) ने प्रतियोगिता पढ़ने का सही तरीका बताया. परिजनों द्वारा लगातार हर स्तर पर उत्साहित करने और सतत प्रेरणा देने से, गुरुजनो द्वारा बेसिक एजुकेशन में मेहनत, स्प्रिंगबोर्ड academy के मनोहरसिंह महेचा, उनकी टीम और गूगल गुरु की मदद से समाज सेवा का अवसर हासिल हुआ.

सामंत टीम:-कितने घंटे पढते थे व आपके अनुसार एक सामान्य विद्यार्थी को इस परीक्षा में सफल होने के लिए कितने समय की पढाई दैनिक रूप से अवश्य करनी चाहिए ?
खिंव सिंह राठौड़:- प्रतिदिन घन्टे या दिन के बजाय सैलेबस के अनुसार पढ़ाई करना और टॉपिक्स को समझना ज्यादा बेहतर हैं और समय की बचत के लिए इंटरनेट बेहतर सहयोगी हैं. इसके लिए जब भी अवसर मिले जितना भी मिले पढ़ लिया जाए. टॉपिक्स को डिवाइड करके पढ़ा जाए और रिवीजन के लिए कैच पॉइंट्स को लिख लिया जाए. जिससे समय की बचत होती हैं. ज्यादा पढ़ने की बजाय जो पढ़े अच्छा पढ़े और अच्छे से पढ़े.

सामंत टीम:-मेहनत व भाग्य पर विचार ?
खिंव सिंह राठौड़:- मेहनत और भाग्य एक दूसरे के सहयोगी हैं उन्हें अलग नजरिए से देखने की बजाय सतत प्रयास में लगा रहना ज्यादा बेहतर हैं. बजाय निराश होने के आगे बढ़ते रहे. महावीर सिंह जी रणसीसर जोधा के प्रयास इसकी एक मिसाल हैं.

सामंत टीम:-बहुत से लोग आरक्षण की वजह से अपना मनोबल बहुत कम कर लेते हैं और मेहनत ही नहीं करते उनके लिए क्या कहना चाहते हैं ?
खिंव सिंह राठौड़:- जातिगत आधार पर आरक्षण एक कड़वी हकीकत हैं और निकट भविष्य में भी यह दुर्भाग्यपूर्ण सच्चाई बनी रहेगी. इसलिए बजाय इससे परेशान होने के हमे इससे परे सफलता हासिल करनी हैं. जब तक किसी एग्जाम में एक भी सीट जनरल के लिए उपलब्ध हैं तो "वो सीट मेरे लिए हैं" इसी जज्बे के साथ प्रयास करने हैं. टोटल नम्बर ऑफ सीट की बजाय जनरल कैंडिडेट्स जनरल कोटा को ही टोटल सीट मान कर तैयारी करे. 51% को ही 100% मानकर प्रयास करे और पुरे 51% पर अपना अधिकार करे. आरक्षण या किसी अन्य कारणो से प्रयास ना छोड़े जो भी मिले उस अवसर को ले और अगले की तैयारी करे.

सामंत टीम:-आप युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत हैं इसलिए समाज व राष्ट्र के छोटे भाई बहनों को आपका संदेश ?
खिंव सिंह राठौड़:- देश समाज को सक्षम बनाने के आपके आजके प्रयास देश एवं आने वाली पीढ़ियों का भविष्य तय करेंगे, खुद सफल बने, दुसरो को सफल बनाए. आपकी सफलता दुसरो के लिए भी हो. निज स्वार्थ की बजाय देशहित और समाजहित में कार्य करे और जिस भी फिल्ड में आप हैं वहां से इस दिशा में सहयोग दे. देश और समाज के परे हमारा कोई अस्तित्व नहीं हैं. किसी भी स्तर पर किसी से भी सहयोग लेने और देने में ना हिचके.

सामन्त टीम:-कुछ विचार अपनी मर्जी से जो भी आप शेयर करना चाहें । अपने संघर्ष के बारे में या तैयारी के तरीकों के विषय में ? आध्यात्म के विषय में आपकी अपनी रूचियों के विषय में ? अपनी अच्छी बुरी आदतों के विषय में?
खिंव सिंह राठौड़:- आस्था और विश्वास संतुलित मन की कुंजी हैं. योग पूर्वजो का संचित ज्ञान हैं इसलिए हो सके तो योग एवं खेल का सहारा लेकर, स्वस्थ तन और स्वच्छ मन से प्रयास करे.

सामंत टीम:- सामंत पेज के लिए कोई विचार या सुझाव?
खिंव सिंह राठौड़:- क्लोज ग्रुप बनाए जिसमे जरुरतमंद होनहार युवाओ की आर्थिक मदद की जाए. सेलेक्ट हो रखे समाज के सरकारी कर्मचारी एक महीने की सैलेरी का सहयोग दे. इसमें पैसे देने वाले समाज के लोगो एवं फायदा लेने वालो का ब्यौरा हो समाज के अलग अलग वर्ग के लोग ट्रस्ट के द्वारा इस पैसे के खर्च एवं लेनदेन की देखरेख करे.

ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि तैयारी करने वाले नौजवान साथी प्रोत्साहित हो सके |

No comments

Post a comment