Tuesday, 21 February 2017

सनातन धर्म रक्षक राजा मानसिंह आमेर स्मृति समारोह का आयोजन किया गया ।

सनातन धर्म रक्षक राजा मानसिंह आमेर स्मृति समारोह

इतिहास शुद्धीकरण अभियान के तहत कल राजपूत सभा भवन जयपुर में राजा मानसिंह आमेर की स्मृति में समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें राजा मानसिंह के जीवन से संबंधित कई भ्रान्तियों का निवारण कर अन्य कई महत्वपूर्ण तथ्यों पर प्रकाश डाल कर मुख्य वक़्ता अग्रवाल कॉलेज के प्रिन्सिपल श्री राजेन्द्र सिंहजी खंगारोत ने कहा कि राजा मानसिंह आमेर के साथ न्याय नहीं किया गया। अकबर की उपलब्धियों को मानसिंह की उपलब्धियों के प्रकाश में देखा जाना चाहिये।


ूर्व विधायक श्री खुशवीर सिंहजी ने कहा कि हमें अपने इतिहास का पुनर्लेखन कर अपने वीर चरित्रों का सम्यक् चित्रण समाज के सामने लाना चाहिये।
मौसम विभाग के पूर्व महानिदेशक ने अध्यक्षता करते हुए कहा कि समाज की नई पीढ़ी हमसे अधिक जागरुक है और यह उजला पक्ष है हमारे लिये।
इस अवसर पर पुस्तक- स्वतन्त्रता समर के क्रान्तिकारी योद्धा, का विमोचन भी अतिथियों द्वारा किया गया ।


समारोह में आन्ध्र प्रदेश, हरियाणा, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश राजस्थान, दिल्ली आदि कई राज्यों से समाज के 7000 व्यक्तियों ने भाग लिया।
समारोह में मानसिंह जी के जीवन पर प्रकाश निम्न वक्ताओं ने डाला ।
1. प्रतापसिंह जी नन्देरा
2. जगदिश सिंह बङनगर
3. सिताराम सिंह बङनगर
4. शक्ति सिंह बान्दीकुई
5. बलवीर सिंह राठौड़ डढे़ल
6. भंवर सिंह रेटा
7. कुँवराणी निशा कँवर
8. अजितेंन्द्र सिंह भिवानी
9. कृष्णवर्धनसिंह गुढा़ गौङजी ।
वक्ताओ ने राजा मानसिंह आमेर की प्रमुख निम्न विशेषताओं पर प्रकाश डाला ।
1. कुशल राजनीतिज्ञ
2. पराक्रम व युक्ति बुद्धि का सामंजस्य
3. विज्ञान के विकास की और ध्यान देना
4. धर्म के प्रति आस्था व आत्मविश्वास की पुनः स्थापना
5. सुदृढ़ गुप्तचर व्यवस्था का निर्माण
6. उदारता व गुणवान लोगों का संग्रह
7. अपनों में विश्वास व श्रद्धा
8. कर्तव्य व बलिदान की महिमा को बिना फल की अभिलाषा रखें समझना


कार्यक्रम का संचालन देवीसिंह जी महार साहब के सानिध्य समारोह संयोजक राजेश सिंह जी हुडील ने किया ।।
सभी सामाजिक संगठनों के अध्यक्ष व सदस्यों ने अपनी उपस्थित दर्ज करवाई व कार्यक्रम कि सराहना कि ।
इस श्रृंखला में आगे भी कई चरित्रों पर प्रकाश डालने का कार्य किया जायेगा ।

No comments

Post a comment