Wednesday, 28 September 2016

दानवीर राजा मानसिंह आमेर

दानवीर राजा मानसिंह आमेर

राजा मानसिहजी आमेर महान दानवीर जब दानवीरो की चर्चा चलती है तो आज तक तीन ही आदमी महान दानवीर हुए है और तीनो ही क्षत्रिय थे, इस विषय पर यह दोहा प्रचलित है ।

बलि बोई कीरत लता कर्ण करे द्वपान ।
सिची मान महिप ने जद देखी कुमलान ।

राजा बलि ने दान की बेलडी बोई और कर्ण ने उस बेलडी के दो पान (पत्ते) लगाए यानी दान की परम्परा को आगे बढाया । ओर जब बेलडी मुरझाने लगी तो राजा मान सिह आमेर ने उसको सिचा ।
यानी दान की महिमा कम होने लगी तो, उसको वापिस प्रारम्भ किया । जो हम देख रहे मान सिह जी की दान की महिमा से इतिहास भरा  पडा है ।

सनातन धर्म रक्षक राजा मानसिंह आमेर स्मृति समारोह
29 जनवरी 2016 जयपुर

No comments

Post a comment