Saturday, 12 September 2015

कहत नवाब

कहत नवाब


कहत नबाब सिपाह सूं, मरन सु दीसै आज ।
जुद्ध बन्यो है नृपति सूं, गहो लून की लाज ।।

No comments

Post a comment