Sunday, 13 September 2015

बख्तावर सिंह नागौर

बख्तावर सिंह नागौर


रामू सूं राजी नहीं, मारु मुरघर देश ।
जोधाणो झाला देवै, आव घणी बखतेश ।।

इन्हीं बखत सिंह जी के लिये यह दोहा भी प्रसिद्ध है -

बखत-बखत बायरा क्यों मारेयो अजमाल ।
हिंदवाणी रो सेहरो तुरकाणी रो साल।।

No comments

Post a comment