Tuesday, 9 May 2017

राजा पुलकेशिराज चालुक्य ( सोलंकी )

राजा पुलकेशिराज चालुक्य ( सोलंकी )



लाट प्रदेश, दक्षिण गुजरात (737ई. )

नसवारी के शिलालेख 738-39 ई. के अनुसार अरब के आक्रमणकारियों ने सिंध, कच्छ, सौराष्ट्र, मौर्य, गुर्जर आदि क्षेत्रों को आक्रान्त करके जब दक्षिण के सभी क्षेत्रों को जितने की इच्छा से प्रथम जब नवसारिका पर आक्रमण किया उस समय पुलकेशिराज ने घोर संघर्ष किया और मुसलमानों को पराजित किया ।

इस विजय के उपलक्ष में शौर्य के अनुरागी राजा वल्लभ ने उसको
1. दक्षिण का स्तम्भ
2. चालुक्य कुल भूषण
3. पृथ्वीवल्लभ
4. अपराजित को पराजित करने वाला

ये चार विरुद प्रदान किए थे ।

ऐलोरा 742 ई. के ताम्रपत्र के आधार पर डा. ए.एस. आल्टेयर लिखते है कि पुलकेशिराज की राष्ट्रकुट राठौङ राजा दंतिदुर्ग ने भी सहायता की थी ।

( सल्तनत काल में हिन्दू प्रतिरोध- डा. अशोक कुमार सिंह, बनारस हिन्दु विश्वविद्यालय वाराणसी की पीएच. डी. हेतु स्वीकृत शोध ग्रन्थ, पृष्ठ 18 )




No comments

Post a comment