Saturday, 1 August 2015

बुन्देलखण्ड


                                                   बुन्देलखण्ड :-




"बुंदेलखंड की सुनो कहानी बुंदेलों की बानी में !
पानीदार यहां का घोडा, आग यहां के पानी में !!

आल्हा-ऊदल गढ महुबे के, दिल्ली का चौहान धनी !जियत जिंदगी इन दोनों में तीर कमानें रहीं तनी !!

बाण लौट गा शब्दभेद का, दाग लगा चौहानी में पानीदार यहां का पानी, आग यहां के पानी में"

No comments

Post a comment