Sunday, 13 July 2014

सौ राजन का राजा कैसा,

सौ राजन का राजा कैसा,
जेठ मास कि आफताब जैसा ।।

रण का पहाड़, दुश्मन कि भुजा उपाङ,
तेग का बहादुर ढुंढाहङ का किँवाङ ।।

No comments

Post a comment