Saturday, 10 December 2016

सनातन धर्म रक्षक राजा मानसिंह आमेर


रोप्यों तू ही मान, काबुल झण्डो हिन्द को ।
अमिट रही या स्यान, दोन्याँ का इतिहास मैं ।।

हे राजा मानसिंह ! यह पहला अवसर था कि तुमने काबुल को जीतकर वहाँ सर्वप्रथम भारत की विजय-पताका फहरा दी थी ।
यह शानदार विजय भारत और अफगानिस्तान के इतिहास में सदैव अमर रहेगी ।।
...
सनातन धर्म रक्षक राजा मानसिंह आमेर स्मृति समारोह
29 जनवरी 2017
श्री राजपूत सभा भवन जयपुर
दोपहर 1 बजे से ।।
निवेदक- इतिहास शुद्धिकरण अभियान ।।

No comments

Post a comment